अपने अंदर की आग

जिंदगी को अधूरे ख्वाब चुगने मत देना,
अपने अंदर की आग को बुझने मत देना|

हर फैसले पर मोहर हो तुम्हारे दिल की,
आईने में अपना सर झुकने मत देना|
अपने अंदर की आग को बुझने मत देना…

है पथरीला रास्ता अपने हौसलों का वीर,
मिट जाओ मगर कदम रुकने मत देना|
अपने अंदर की आग को बुझने मत देना…

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
%d bloggers like this: