जिसकी इजाज़त दिल न दे

jiski-ijazat-dil-na-de

जिसकी इजाज़त दिल न दे.. वो काम मत कीजिये,
इन हाथों से अपना खेल तमाम मत कीजिये|

बेसबब नहीं होता.. कुछ भी यहाँ,
खुद से गद्दारी का ये काम मत कीजिये|
जिसकी इजाज़त दिल न दे.. वो काम मत कीजिये|

डर्र हो या मोहब्बत हो किसी से,
अपनी शक्सियत को दुसरे का गुलाम मत कीजिये|
जिसकी इजाज़त दिल न दे.. वो काम मत कीजिये|

खुदा ने बड़ी नेमतों से बख्शी है जिंदिगी,
अपनी रूह की सुनिये.. इसे हराम मत कीजिये|
जिसकी इजाज़त दिल न दे.. वो काम मत कीजिये|

जूनून की हवा दीजिये अपने इरादों को,
और फिर एक लम्हे का भी आराम मत कीजिये|
जिसकी इजाज़त दिल न दे.. वो काम मत कीजिये|

न दीजिये कभी उन मजबूरियों का हवाला,
अपने होसलों का नाम बदनाम मत कीजिये|
जिसकी इजाज़त दिल न दे.. वो काम मत कीजिये|

संभाल कर रखिये अपने दर्द सीने में,
हमसे कहिये.. इन्हें चर्चा ए आम मत कीजिये|
जिसकी इजाज़त दिल न दे.. वो काम मत कीजिये|

ऐसे जियो की आखरी सांस भी मुक्कमल हो,
आधे अधूरे से कोई भी काम मत कीजिये|
जिसकी इजाज़त दिल न दे.. वो काम मत कीजिये|

खुद तक जाता ये सफ़र क़ायम रहे,
किसी मील के पत्थर को मकाम मत कीजिये|
जिसकी इजाज़त दिल न दे.. वो काम मत कीजिये|

एक पल भी कज़ा (मौत) मोहलत नहीं देगी,
यूँ बरबाद अपने सुबह शाम मत कीजिये|
जिसकी इजाज़त दिल न दे.. वो काम मत कीजिये|

आईने से बड़ा कोई मज़हब नहीं है,
चंद किताबों का इतना एहतराम मत कीजिये|
जिसकी इजाज़त दिल न दे.. वो काम मत कीजिये|

न जाने किस मोड़ पर फिर मुलाकात हो ‘वीर’,
किसी से भी आखरी सलाम मत कीजिये|

जिसकी इजाज़त दिल न दे
1 vote, 1.00 avg. rating (51% score)
  • poonam

    Very well done ! Sir
    SUperb

    • http://veeransh.com वीर

      धन्यवाद!

  • Santosh Gupta

    Live life to the fullest . बहुत सुंदर कविता !

  • santosh gupta

    खूबसूरत रचना ! अपनो के साथ शेयरकरने योग्य. ‘वीर’रचते रहो नए कलाम ,लिखते रहो निजी अहसास .
    God bless you !

    • http://veeransh.com वीर

      धन्यवाद