कहने दो ना जिंदिगी

वहमों में रहने दो ना जिंदिगी,
कहने को कहने दो ना जिंदिगी|

ग़मों का दरिया या गिलों की बारिश,
हमें हर हाल में बहने दो ना जिंदिगी|
कहने को कहने दो ना जिंदिगी…

सब दिखता है मेरे अलावा मुझको,
मुझे कुछ नए आईने दो ना जिंदिगी|
कहने को कहने दो ना जिंदिगी…

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
%d bloggers like this: