समझाया न करो

किसी को कुछ समझाया न करो,
लोगों को ठोकर से बचाया न करो |

वो अपनी गलती के मालिक हैं,
बेवजह अपना खून जलाया न करो |
किसी को कुछ समझाया न करो…

तजुर्बे का निचोड़ अपनी हलक में रखो,
अपना फ़साना जुबां तक लाया न करो |
किसी को कुछ समझाया न करो…

खाई में गिरें या फिर गिरें कुँएं में ‘वीर’,
गिरने को अमादा हैं तो बीच में आया न करो |

4.00 avg. rating (80% score) - 2 votes