क्यों चलता है तू मेरे साथ

क्यों चलता है तू मेरे साथ …

खो जा हवाओं में ..  बिखर जा फिज़ाओं में ..

मैं मौसम हूँ बीत जाऊंगा …

अगले बरस मुझे तिनका तिनका जोड़ेगा तू …

क्यों चलता है तू मेरे साथ …

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
  • बहुत खूब । भावुक नज़्म ।

%d bloggers like this: